Tag Archives: आरती

आरती श्री रामायणजी की

आरती श्री रामायणजी की ~~~~~~~~~~~~~~~~~ आरति श्री रामायण जी की । कीरति कलित ललित सिय-पी की ॥ आरति…… गावत ब्रह्मादिक मुनि नारद । बालमीक बिज्ञान बिसारद ॥ सुक सनकादि शेष अरू सारद । बरनि पवनसुत कीरति नीकी ॥ आरति…… गावत वेद पुरान अष्टदस । छओ सास्त्र सब ग्रंथन को रस ॥ सार अंस सम्मत सबही […]