Category Archives: ram charit manas

आरती श्री रामायणजी की

आरती श्री रामायणजी की ~~~~~~~~~~~~~~~~~ आरति श्री रामायण जी की । कीरति कलित ललित सिय-पी की ॥ आरति…… गावत ब्रह्मादिक मुनि नारद । बालमीक बिज्ञान बिसारद ॥ सुक सनकादि शेष अरू सारद । बरनि पवनसुत कीरति नीकी ॥ आरति…… गावत वेद पुरान अष्टदस । छओ सास्त्र सब ग्रंथन को रस ॥ सार अंस सम्मत सबही […]

श्री रामचरित मानस के सिद्ध मन्त्र

श्री रामचरित मानस के सिद्ध ‘मन्त्र’ नियम- मानस के दोहे-चौपाईयों को सिद्ध करने का विधान यह है कि किसी भी शुभ दिन की रात्रि को दस बजे के बाद अष्टांग हवन के द्वारा मन्त्र सिद्ध करना चाहिये। फिर जिस कार्य के लिये मन्त्र-जप की आवश्यकता हो, उसके लिये नित्य जप करना चाहिये। वाराणसी में भगवान् […]

श्रीरामचरित मानस से सम्बन्धित कुछ लिंकः-

श्रीरामचरित मानस से सम्बन्धित कुछ लिंकः- मानस में वर्णित चौपाई, दोहों के कुछ अन्य प्रयोग मायाशर्मा के इस ब्लोग में देख सकते हैं, जो कल्याण में प्रकाशित प्रयोगों से भिन्न हैः- 1. आस्था और विश्वास 2. मानस अनुक्रमणिका 3. श्रीरामचरित मानस 4. श्रीरामचरित मानस